Tag Archives: best anmol vachan on parashnath

Parasnath Quotes in Hindi

पार्श्वनाथ जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर थे उनका आरंभिक जीवन राज सुख से परिपूर्ण था। जब उन्हें अपने जन्म के महत्व का ज्ञान हुआ तब उन्होंने अपना गृह त्याग कर कठोर तपस्या की। फलस्वरूप उन्हें ईश्वरीय ज्ञान प्राप्त हुआ। उन्होंने अहिंसा, तथा प्राणियों में सद्भाव की शिक्षा समाज को दी। पार्श्वनाथ में झारखंड के श्री …

Read more