Prernadayak anmol vachan and suvichar in hindi

Best prernadayak Anmol vachan and suvichar with meaning. Great collection of motivational hindi quotes.

जीवन में जब हमे असफलता मिलती है और मनोबल गिरता है तब हमे प्रेरणादायक सुविचारों की आवश्यकता होती है। इस पोस्ट को पूरा पढ़ें आपको सभी प्रकार के प्रेरणा से भरे अनमोल वचन मिलेंगे।

हमारे भारत में बहुत सारे महान पुरुषों ने जन्म लिया है जैसे कि स्वामी विवेकानंद, आचार्य चाणक्य, और अन्य ऐसे अनगिनत लोग जिन्होंने अपनी बुद्धि द्वारा अपना जीवन तो महान बनाया ही और उन्होंने लोगों को नई राह भी दिखाई। उन्ही महापुरुषों द्वारा कहे गए प्रेरणादायक सुविचार और अनमोल वचन आपको नीचे पढ़ने को मिलेंगे जिससे आपकी जिंदगी भी बदल सकती है।

Prernadayak Anmol vachan and suvichar in hindi

Best collection of hindi prernadayak anmol vachan and suvichar.

जितना अध्ययन करते हैं
उतना ही हमें अपने
ज्ञान का अनुभव होता है। । 

माना जाता है व्यक्ति जीवन भर सीखता रहता है, यह सीखने की प्रक्रिया उसके मृत्यु तक चलती है।

इसलिए व्यक्ति को सीखने का प्रति उत्साहित रहना चाहिए और जो भी अनुभव मिले उससे सीखना चाहिए।

 

 

संभव की सीमा जानने का
केवल एक ही तरीका है
असंभव से भी आगे निकल जाना। ।

कोई भी कार्य असंभव तब तक प्रतीत होता है जब तक उस कार्य को किया ना जाए।

किसी भी कार्य की सीमा तभी जान पाएंगे जब उस कार्य को पूरा करते हुए आगे निकल जाए।

Health quotes in hindi स्वास्थ्य के लिए अनमोल वचन

Shivaji maharaj suvichar शिवजी महाराज के अनमोल वचन 

 

जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी। । 

संघर्ष जितना बड़ा होता है , जीत उससे भी शानदार होती है। कड़ा संघर्ष करके ही शानदार जीत प्राप्त की जा सकती है और यह शानदार जीत को दुनिया देखती है जो मिसाल कायम कर देती है।

 

Hindi Motivational suvichar

 

देख वह सपने और उनमें आग लगा तू
पकड़ उन शोलों को अपने सूरज में मिला दे तू। ।

सपने ऐसे देखने चाहिए जो क्रांतिकारी हो क्रांतिकारी से आज से उससे है जो समाज में मिसाल कायम करें उन सभी शोला के रूप में कठिनाइयों को मिलाकर अपने भाग्य और सफलता के रूप में सूरज को चमकाना चाहिए।

 

 

एक समय में एक काम करो
और ऐसा करते समय अपनी
पूरी आत्मा उस में डाल दो
और बाकी सब कुछ भूल जाओ। ।

कोई भी कार्य करते समय उसके प्रति लगन और पूरी निष्ठा के साथ जुड़ना पड़ता है , तभी उसकी सफलता प्राप्त होती है। ऐसा करते समय किसी अन्य कार्य की ओर ध्यान नहीं देना चाहिए अन्यथा ध्यान बढ़ने के कारण लक्ष्य प्राप्ति से व्यक्ति चूक जाता है।

Anmol vachan in hindi ( high quality )

Swami vivekanand suvichar 

 

 

अपने आप में भरोसा रखो ,

पूरा विश्व आप पर भरोसा करेगा। ।

जो व्यक्ति स्वयं पर भरोसा करता है पूरी दुनिया उस पर भरोसा करती है। इसलिए व्यक्ति को स्वयं पर भरोसा करना चाहिए। स्वयं पर भरोसा करने वाला व्यक्ति छल – कपट से दूर मेहनत प्रिय बन जाता है क्योंकि वह स्वयं के प्रति ईमानदारी का भाव रखता है।

 

जायदाद बेतहाशा बढ़ गई उसकी
पर उसका कोई नाम नहीं लेता
आह वह सबसे बदनसीब गरीब है। ।

जायदाद बेतहाशा कम आने पर भी व्यक्ति सुखी नहीं रह पाता। क्योंकि ज्यादा के चक्कर में वह अपने लोगों से दूर हो जाता है। अंततः उसके साथ सुख दुख बांटने वाला भी कोई नहीं रहता और जब निष्कर्ष निकाला जाता है तो उससे बड़ा गरीब कोई दूसरा नजर नहीं आता।

 

Best prernadayak anmol vachan

Motivational anmol vachan in hindi
Prernadayak anmol vachan in hindi

 

बड़ी कीमत मिली थी जीती बाजी हार ने के लिए
मगर मैंने जमीर नहीं बेचा कर्ज उतारने के लिए। ।

व्यक्ति का जीवन संघर्षों से परिपूर्ण होता है इस जीवन में सुख-दुख हार जीत आदि लगी रहती है।  किंतु व्यक्ति को आत्म सम्मान के लिए कभी भी समझौता नहीं करना चाहिए।

 

जल अपच की दवा है , जल चैतन्य निर्माण करता है
यदि उसे भोजन पच जाने के बाद पीते हैं
पानी को भोजन के बाद तुरंत पीना विष के समान है

प्रकृति व्यक्ति को सब कुछ देती है , जल जीवन है ऐसा सब मानते हैं और मानना भी चाहिए। जिस प्रकार जल को हम ग्रहण करते हैं उसी प्रकार का विचार हमारे मस्तिष्क में जन्म लेता है। हमारा मस्तिष्क हमारी इंद्रियां यह सब हमारे प्रकृति और हमारे द्वारा किए गए कार्यों पर निर्भर करती है , कि वह किस प्रकार के कार्य की ओर अग्रसर हो।

हमारा शरीर में 75% भाग जल है यह हमारे लिए चैतन्य का निर्माण करती है , इसलिए हमें संयमित रूप से जल को दवा के रूप में प्रयोग करना चाहिए। अतः यह विष के समान बनने में भी अधिक देरी नहीं लगाती , जिस प्रकार भोजन के तुरंत बाद जल ग्रहण करने से वह विष का कार्य करती है।

 

प्रेरणादायक सुविचार और अनमोल वचन

 

बेढंगे काम करने वाले को ना समाज में सुख मिलता है ना ही जंगल में
समाज में मनुष्यों का साथ उसे दुखी करता है जबकि जंगल में अकेलापन। ।

बेढंगे और गैर जिम्मेदार लोगों से कोई दुनिया सुखी नहीं रह सकती और स्वयं वह भी सुखी नहीं रह सकता। ऐसे व्यक्ति से समाज सदैव दुखी रहता है और वह स्वयं भी दुखी का पात्र बनता है। समाज में रहते हुए उसे दुख मिलता है और एकांत में भी। अतः व्यक्ति को मिलनसार और समाज के अनुरूप कार्य करना चाहिए जिससे समाज को सुख मिले और स्वयं को भी।

 

कौवा और कोयल दोनों एक समान रंग के होते हैं
परंतु अंतर वाणी का होता है

आज दो व्यक्ति को देखकर आप उसके भीतरी  ज्ञान को परख नहीं कर सकते। ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार कौवा और कोयल में फर्क नहीं किया जा सकता , जब तक कि वह कुछ बोले ना। इसी प्रकार व्यक्ति की भी पहचान उसके वाणी से होती है। एक अज्ञानी व्यक्ति जहां अनावश्यक वार्तालाप करेगा , वही ज्ञानी और महापुरुष व्यक्ति सदैव मृदुभाषा का प्रयोग करते हैं , जिससे उनके विद्वता का परिचय मिलता है।

 

Motivational anmol vachan in hindi

जिस व्यक्ति के पास धर्म और दया नहीं है
जिस गुरु के पास आध्यात्मिक ज्ञान नहीं है
उसे स्वयं से दूर कर देना चाहिए। ।

आज मानव के बीच में छल – कपट का इतना बड़ा संयोजन हो गया है कि , व्यक्ति भीतर से कुछ और बाहर से कुछ और प्रतीत होता है। ऐसे व्यक्तियों की पहचान करके उस से दूरी बनाने की आवश्यकता है। जिस व्यक्ति में धर्म और दया का समावेश ना हो उसकी पहचान करनी जरूरी है और जिस गुरु के पास अध्यात्म का ज्ञान लेश मात्र भी ना हो उसे स्वयं से दूर कर दें। यह आपके लिए वरदान साबित होगा अन्यथा आप की दुर्गति होली निश्चित है।

 

Hindi suvichar on life

Subhashita sanskrit quotes with hindi meaning

Follow us

Facebook page

 

Leave a Comment